babitaji rakhi jethalal

तारक मेहता का उल्टा चश्मा भारतीय टेलीविजन पर सबसे पसंदीदा शो में से एक है। इस शो ने लगभग 13 वर्षों तक दर्शकों का मनोरंजन किया है। बबीता और जेठालाल शो के प्रतिष्ठित और चर्चित पात्र हैं। रक्षा बंधन के मौके पर हम शो से एक खास थ्रोबैक लेकर आए हैं।

हम सभी जानते हैं कि दिलीप जोशी का ऑन-स्क्रीन किरदार जेठालाल और मुनमुन दत्ता के किरदार बबीताजी के साथ चुलबुला हो जाता है, जो दर्शकों को बहुत पसंद आता है। जेठालाल के लिए बबीता से राखी बंधवाने से ज्यादा शोक वाली बात और क्या हो सकती है? शो में एक बार उनका ये सबसे बड़ा डर रक्षा बंधन के दिन सच हो गया।

मनोरजन करने वाले एपिसोड में, सभी गोकुलधाम में एक दूसरे को राखी बांध रहे हैं। गोकुलधाम सोसाइटी की दूसरी महिलाओं से जेठालाल राखी बंधवा लेता है लेकिन जैसे ही बबिता की बारी आती है जेठालाल छुप जाता है। भिड़े जेठालाल को ढूंढता है और बबीता से राखी बांधने के लिये पकड़ कर रखता है।

जेठालाल डर के मारे अपनी आंखें बंद कर लेता है और उनसे विनती करता है कि उसके हाथ पर राखी न बांधें। वह लगभग रोने लगता है कि वह अपने क्रश से राखी कैसे बंधवा सकता है। तभी अचानक बबिता का सगा भाई कोलकाता से आता है और बबिता उसको राखी बांधने चली जाती है। बबीताजी को ऐसे जाता देख जेठालाल खुशी से झूम उठते हैं और भिड़े को गले लगा लेते हैं।

आपको बता दे की ये बहुत पुराना एपिसोड है और ये रक्षाबंधन का आयोजन भिड़े ने किया था। क्योकि वो टप्पू को सोनू से राखी बंधवा सके। लेकिन भिड़े के इरादे इसमें भी फ़ैल हो जाते है और टप्पू सोनू से राखी नहीं बंधवाता। क्या अपने तारक मेहता का उल्टा चश्मा का ये एपिसोड देखा था?

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *